मर्दाना कमजोरी की होमियोपैथिक दवा|शीघ्र स्खलन,नामर्दी की होम्योपैथिक दवा

 मर्दाना कमजोरी की होमियोपैथिक दवा|शीघ्र स्खलन,नामर्दी की होम्योपैथिक दवा

Contents hide
1 मर्दाना कमजोरी की होमियोपैथिक दवा|शीघ्र स्खलन,नामर्दी की होम्योपैथिक दवा
mardana kamjori ki homeopaithic dawa

इंटरनेट के युग में आज की युवा पीढ़ी जिस प्रकार से नपुंसकता, शीघ्रस्खलन,वीर्य की कमजोरी,मर्दाना कमजोरी को दूर करने के लिए चोरी-छिपे बड़े-बड़े हॉस्पिटल और नीम-हकीमों के चक्कर लगा रहे हैं।

 उससे उनके मन की स्थिति को बहुत ही सरलता से समझा जा सकता है कि इस समस्या से निजात पाने के लिए लोग किस तरह से परेशान हैं।

यदि आप भी इस समस्या से पीड़ित हैं तो चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि इस लेख के माध्यम से आज हम ऐसी होमियोपैथिक रामबाण दवा के बारे में बताने जा रहे हैं।

 जो नपुंसकता,शीघ्र स्खलन,मर्दाना कमजोरी की  होमियोपैथिक दवा है।जो आपको इस भयावह रोग से निजात दिलाने में पूरी तरह से सहायता कर सकती है।

मर्दाना कमजोरी,शीघ्रस्खलन, नामर्दी के लक्षण

• संभोग करने से पहले डर और घबराहट महसूस होना।

• सेक्स करते समय लिंग में भरपूर तनाव न आना।

• स्त्री के साथ संभोग करने का मन न करना।

• संभोग करते समय आत्मविश्वास की कमी हो जाना।

• संभोग करते समय लिंग का ढीला व आकार में छोटा हो जाना।

• संभोग करते समय शीघ्रपतन हो जाना।

मर्दाना कमजोरी,शीघ्रस्खलन, नामर्दी के कारण

किसी पुरुष में मर्दाना ताकत में कमी होने के निम्नलिखित कारण हो सकता है।

• किसी गम्भीर रोग की चिकित्सा करने से उस दवा से होने वाले दुष्प्रभाव के कारण।

• अंडकोश से निकलने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के कारण।

हाईब्लडप्रेशर की लगातार दवा लेने के कारण।

• ज्यादा शराब,तम्बाकू आदि का सेवन करने के कारण।

हस्थमैथुन जैसी बुरी आदत के कारण।

बहुमूत्र रोग के कारण।

• किसी विषय पर हमेशा चिंता करने के कारण।

• हमेशा पोर्न फिल्म देखने या गन्दे विचारों में लीन रहने के कारण।

• बहुत अधिक स्वप्नदोष होने के कारण।

मर्दाना कमजोरी की होमियोपैथिक दवा

Tribulus Terrestris Q

पुरुषों के जननेन्द्रिय पर इस दवा की मुख्य क्रिया होती है।इस दवा में जननेन्द्रिय इतनी कमजोर हो जाती है जरा सी उत्तेजना होते ही वीर्यस्खलन हो जाता है।
हस्थमैथुन या अन्य किसी भी प्रकार से वीर्यक्षय होकर नपुंसकता या मर्दाना कमजोरी होने पर यह दवा सबसे ज्यादा फायदा करती है।
डॉक्टर बोरिक के अनुसार 10 से 20 बूंद की मात्रा में आधे कप गुनगुने पानी के साथ दिन में तीन बार सेवन करने से जल्दी फायदा होता है।

Dioscoria Q 

यह दवा स्वप्नदोष के कारण आयी नपुंसकता को दूर करने के लिए एक रामबाण औषधि है।

इसमें रोगी के जननांग इतने ढीले हो जाते हैं कि एक ही रात कई बार स्वप्नदोष हो जाता है जिसके कारण रोगी को घुटने में बहुत ही कमजोरी महसूस होती है।

 Lycopodium 1M

जो व्यक्ति अपनी दूसरी या तीसरी शादी करने के बाद मर्दाना कमजोरी का अनुभव करने लगता हैं और अपना गृहस्थ जीवन चलाने में असमर्थ हो जाता है।

और लड़के एवं लड़की दोनों तरफ के लोगों में एक विकट स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

 कि अब क्या करें, तो ऐसी स्थिति में लाइकोपोडियम 1M की एक खुराक का सप्ताह में एक बार प्रयोग करने से खोई हुई मर्दाना ताकत वापस आ जाती है।

और पति और पत्नी के संबन्धों में मधुरता आ जाती है।

Phosphorus 30

जो व्यक्ति पहले बहुत ही कामी प्रवृत्ति का रहा हो,इतना कामी की अपने अंगों को हमेशा दिखाता फिरता हो।

और बाद में नपुंसक हो जाय,लेकिन कामेच्छा पहले जैसी ही बनी रहे, परन्तु प्राइवेट पार्ट में कड़कपन आने की वजह से शारीरिक सम्बन्ध बनाने में असमर्थ हो जाए।

 तो ऐसे व्यक्ति की मर्दाना कमजोरी को दूर करने के लिए फास्फोरस एक अमोघ औषधि है।

 Calcarea Carb 30 (कैल्केरिया कार्ब 30)

इसमें व्यक्ति को मानसिक रूप से सेक्स के प्रति इच्छा तो बहुत रहती है लेकिन शारीरिक रूप से असमर्थ होता है।

इन्द्रियों की उत्तेजना बिल्कुल कम हो जाती है।संभोग के समय शीघ्रपतन हो जाता है।

Avena Sat Q 

किसी भी प्रकार की शरीर को बलहीन कर देने वाला रोग जैसे अनजान में वीर्यस्खलन,हस्थमैथुन, टाइफाइड ज्वर,स्वप्नदोष,रक्तक्षय,डायरिया आदि रोग भोगने के बाद शरीर में आई कमजोरी को दूर करने के लिए यह एक अमोघ औषधि है।

10 से 20 बूंद की मात्रा में आधे कप हल्के गर्म पानी के साथ सुबह- शाम सेवन करने से शरीर में आयी कमजोरी दूर हो जाती है।

Acid Phos 200

एसिड फास में पहले मानसिक कमजोरी फिर बाद में शारीरिक कमजोरी आती है।

एक ही रात में कई बार स्वप्नदोष जा हो जाना इस औषधि का प्रमुख लक्षण है।

हस्थमैथुन के कारण वीर्य का पतला हो जाना,स्त्री संगम करते ही शीघ्रस्खलन हो जाना।वीर्यस्राव के बाद अत्यंत कमजोरी मालूम होता है।

इसे भी पढ़े

धातु रोग की होमियोपैथिक दवा,कारण,लक्षण और परहेज

Agnus Cast Q

इस दवा में व्यक्ति बहुत अधिक कामुक जीवन व्यतीत करने के कारण जवानी में ही वृद्ध जैसा दिखाई देता है।

इसमें सेक्स करने की इच्छा तो बहुत होती है लेकिन शारीरिक रूप से असमर्थ होता है।जिनका लिंग ढीला,ठंडा और टेढ़ा,साइज में एकदम छोटा हो जाता है।

जिन्हें कामोद्दीपक बात करने या स्त्री को गले लगाने पर भी लिंग में तनाव नहीं होता है।

उनके मर्दाना कमजोरी को दूर करने के लिए Agnus Cast Q एक अचूक औषधि है।

Staphysagria 200 

इसमें रोगी हमेशा अश्लील बातों के बारे में सोचता रहता है।

जिसके कारण रात को उसे स्वप्नदोष हो जाता है।चेहरा बैठा हुआ रहता है, आँखों के नीचे काले रंग के घेरे बन जाते हैं।

पीठ बहुत कमजोर हो जाती है जिसके कारण वह सीधा खड़ा नहीं रह सकता है और सेक्स करने के बाद हाँफने लगता है।

Salix Nigra Q

हस्थमैथुन के कारण शरीर में आयी कमजोरी और नपुंसकता को दूर करने के लिए Salix Nigra Q एक रामबाण औषधि है।
इसमें व्यक्ति को पेशाब या पखाने के लिए जोर लगाते समय वीर्य निकल जाता है।
 इसके अलावा स्त्री से संगम की इच्छा बराबर बनी रहे और शरीर साथ न दें तो उसमें भी Salix Nigra Q को 10 बूंद की मात्रा में आधे कप गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से लाभ होता है।  

Nuphar Luteum Q

इसमें व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से इतना कमजोर हो जाता है कि जरा सी भी कामोद्दीपक बातें करने अथवा बहुत कम उत्तेजना से ही वीर्यक्षय हो जाता है। लिंग ढीला और पीछे की ओर मुड़ जाता है।

Selenium 30

बहुत अधिक कामुक जीवन व्यतीत करने के कारण शरीर में आयी नामर्दी को दूर करने के लिए सेलेनियम एक अचूक औषधि है।
इस दवा में लिंग में बहुत कम कड़ापन आता है।वीर्य पानी की तरह बहुत पतला हो जाता है। 
पेशाब और पाखाने के बाद अनजान में वीर्य थोड़ा थोड़ा करके निकला करता है। इसके कारण रोगी बहुत कमजोर हो जाता है।
वीर्य में गन्ध बिल्कुल ही नहीं रहती है।इसके कारण व्यक्ति नपुंसक हो जाता है।

शीघ्र स्खलन की होमियोपैथिक दवा

Bufo rana 200 

इसमें व्यक्ति को हस्थमैथुन की बड़ी तीव्र इच्छा होती है जिसके लिए वह हमेशा एकांत स्थान ढूढ़ता रहता है।स्त्री के साथ सेक्स करते समय शीघ्रस्खलन हो जाता है।
कभी कभी अपने आप अनजान में वीर्यस्खलन हो जाता है।रोगी धीरे धीरे कमजोर व नपुंसक हो जाता है।

Conium 200 ( कोनियम 200 )

इस दवा में व्यक्ति को संगम की इच्छा तो तीव्र होती है लेकिन उसके लिंग में तनाव न आने की वजह से सहवास करने में असमर्थ हो जाता है।
किसी स्त्री को देखने या उसका आलिंगन करने का मन में विचार आने मात्र से ही वीर्यस्खलन हो जाता है।बहुत चेष्टा करने पर भी लिंग में कड़ापन नहीं आता है

Damiana Q 

इसमें स्नायविक दुर्बलता के कारण रोगी का पुरुषत्व इतना कम हो जाता कि लिंग में तनाव बिल्कुल ही नहीं होता है।पखाना या पेशाब करते समय वीर्य निकल जाता है।
शीघ्रस्खलन की अवस्था में 10 से 30 बूंद की मात्रा में आधे कप पानी के साथ सुबह और शाम कुछ दिनों तक लगातार प्रयोग करने से फायदा होता है।

नामर्दी को होमियोपैथिक दवा

Agnus Castus 30 

पुरुष और स्त्री की जनेन्द्रिय पर इस औषधि की मुख्य क्रिया होती है।
इसलिए जो व्यक्ति ज्यादा कामुक जीवन व्यतीत करके बहुत ही कमजोर और नपुंसक हो गया हो, जवानी में ही वृद्ध जैसा दिखायी देता है।
 स्त्री संगम की इच्छा तो बहुत रहती है परन्तु उसके प्राइवेट पार्ट में कड़कपन बिल्कुल ही नहीं होता है। 
जिनका लिंग शिथिल,टेढ़ा व ठंडा,साइज में एकदम छोटा हो गया हो,किसी कामोत्तेजक बात या आलिंगन करने पर भी लिंग में तनाव बिल्कुल ही नहीं आता हो ऐसे व्यक्तियों के नामर्दी में Agnus Castus 30 होमियोपैथिक दवा से लाभ होता है।

Caladium Seguinum 200 ( कैलेडियम )

इस दवा में व्यक्ति को जरा सी नींद आते ही लिंग में तनाव आ जाता है और जागते ही ढीला हो जाता है।
नींद में बिना उत्तेजक स्वप्न देखे ही वीर्यस्खलन हो जाता है।
यदि स्वप्नदोष की बीमारी बहुत पुरानी होकर नपुंसकता में बदल जाये तो भी इस दवा के प्रयोग से फायदा होता है।
ऐसे व्यक्ति को संगम की इच्छा तो बहुत ही रहती है किंतु तम्बाकू और अधिक इंद्रिय सेवन से लिंग में तनाव बिल्कुल ही नहीं आता है।
ऎसे व्यक्तियों के नामर्दी में Caladium Seguinum 200 होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

Damiana Q 

इस दवा में स्नायविक दुर्बलता इतनी अधिक होती है कि जिसके कारण बृद्ध लोगों के लिंग में तनाव बिल्कुल ही नहीं आता है।
एकदम से नपुंसकता आ जाती है।पखाना या पेशाब का वेग देते समय वीर्य अपने आप निकल जाता है।
10 से 30 बूंद की मात्रा में आधे कप पानी के साथ इसके मदरटिंचर का प्रयोग करने से लाभ होता है।

मर्दाना ताकत की होमियोपैथिक दवा

Agnus Cast Q 

ऐसे वृद्ध व्यक्ति जिन्होंने अपनी पूरी जवानी अत्यधिक सेक्स करके व्यतीत किया हो,और 60 वर्ष की आयु में पहुचने पर भी उनमें उत्तेजना ज्योंकि-त्यों बनी हो जैसी 18 या 20 वर्ष की में थी।
लेकिन शारीरिक रूप से असमर्थ और नपुंसक हो गए हो,इस नपुंसकता के कारण उनका वीर्य हमेशा टपकता रहता हो, ऐसे व्यक्तियों के मर्दाना ताकत को बढ़ाने में यह होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

R41 होमियोपैथिक दवा के फायदे

R41 डॉक्टर Dr. Reckeweg कम्पनी की एक जर्मन होमियोपैथिक मेडिसिन है।
इसका प्रयोग पुरुषों में होने वाली सेक्सुअल कमजोरी जैसे शीघ्रस्खलन,मर्दाना कमजोरी,मर्दाना ताकत में कमी,वीर्य की कमजोरी, स्वप्नदोष,नामर्दी,पुरुषों में कामेच्छा को बढ़ाने आदि के लिए किया जाता है।
 r41 मेडिसिन में प्रयोग की जाने वाली होमियोपैथिक औषधियों का विवरण इस प्रकार से है।

 • एसिडम फास्फोरिकम (Acidum phosphoricum)

हस्थमैथुन,स्वप्नदोष,पेशाब या पखाने में वेग देने के बाद अनजान में वीर्य निकल जाने में यह दवा फायदा करती है।

• एग्नस 
कास्टस (Agnus castus)

कामोत्तेजक बात करने या स्त्री का आलिंगन करने पर भी लिंग में तनाव न आने पर यह औषधि लाभ करती है।

• कोनियम (Conium)

किसी स्त्री को देखने या उसका मन में विचार आने से वीर्यस्खलन होने पर यह औषधि फायदा करती है।

• डैमियाना (Damiana)

स्नायविक दुर्बलता के कारण लिंग में कड़ापन न आने में यह औषधि फायदा करती है।

• सीपिया  (sipea)

यह दवा सेक्स के प्रति होने वाली अरुचि को खत्म कर देती है।

• फास्फोरस (Phosphorus)

शारिरिक कमजोरी की वजह से लिंग में तनाव न आने के कारण होने वाली नपुंसकता में यह दवा फायदा करती है।

• चाइना (China)

शरीर में किसी भी वजह से(स्वप्नदोष, हस्थमैथुन)वीर्यक्षय होने के कारण आने वाली कमजोरी में यह दवा फायदा करती है।
इसे भी पढ़े

• टेस्टटिस (Testes)

यह दवा शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के उत्पादन को बढ़ाकर लिंग में तनाव और कामोत्तेजना को बढ़ाती है।
इस प्रकार से कहा जा सकता है कि R41 होमियोपैथिक दवा पुरुषों में होने वाले यौन रोग जैसे नपुंसकता, स्वप्नदोष, मर्दाना कमजोरी, नामर्दी,शीघ्रस्खलन आदि समस्याओं को दूर करने के लिए एक बेहतरीन जर्मन होमियोपैथिक मेडिसिन है।
इस लेख में आपने जाना कि मर्दाना कमजोरी की होमियोपैथिक दवा,शीघ्रस्खलन की होमियोपैथिक दवा,नामर्दी की होमियोपैथिक दवा,मर्दाना ताकत की होमियोपैथिक दवा,R41 होमियोपैथिक दवा के फायदे आदि के बारे में पूरी जानकारी।
यह जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके हमें जरूर बतायें।
Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की healthsahayata.inपुष्टि नहीं करता है, इनको केवल सुझाव के रूप में लें, इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Comment