एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के फायदे | Acid Phos 200 Benefits In Hindi

 एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के फायदे | Acid Phos 200 Benefits In Hindi

Table of Contents

एसिड फास एक होमियोपैथिक दवा है।इसका पूरा नाम एसिडम फास्फोरिकम है।यह ऑक्सीजन और फॉस्फोरस को मिलाकर एक रासायनिक प्रक्रिया द्वारा बनाई जाती है।इसके बाद ही यह दवा अपना काम करना शुरू करती है।

Acid Phos 200 Benefits In Hindi
Acid Phos 200 Benefits In Hindi

यह दवा उन लोगों के लिए ज्यादा फायदा करती हैं,जो पहले बहुत ही मजबूत और स्वस्थ रहें हों, लेकिन बाद में बहुत अधिक हस्थमैथुन, स्वप्नदोष, अधिक स्त्री प्रसंग आदि कुक्रियाओं को करने के कारण जिनका वीर्य क्षय होने से बहुत ही कमजोर हो गए हैं।

जो मानसिक रूप से इतने कमजोर हो गए हो कि किसी से बात चीत करने अथवा मिलने का मन न करता हो,जिनमें नामर्दी आ गयी हो,जिनकी स्मरण शक्ति बहुत ही कमजोर हो गई हो।

जवानी में वृद्धों जैसी हालत हो गयी हो,जो अपने इस गलतियों पर बहुत ही पछतावा करता हो,जो दुःख या किसी के प्रेम से निराश होकर किसी कठिन प्रकार की बीमारी से ग्रस्त हो जाय,तो ऐसे रोगियों के इलाज में एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

एसिड फास के फायदे | Acid Phos 200 Benefits in Hindi

निम्नलिखित लक्षणों में एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

मन के लक्षण

इसका रोगी मानसिक रूप से इतना कमजोर हो जाता है कि वह हमेशा अकेला रहना चाहता है,उसकी स्मरण शक्ति इतनी कमजोर हो जाती है कि उसे कोई भी चीज याद नहीं रहती है।

बोलते समय शब्दों को भूल जाता है, उसे किसी भी प्रकार का वाद-विवाद पसन्द नहीं होता है,किसी के कुछ पूछने पर वह बोलना नहीं चाहता है और वह दीवार की तरफ मुँह करके सो जाता है।

यदि इस प्रकार के लक्षण किसी रोगी में दिखाई दे तो उसमें एसिड फास होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

सिर दर्द के लक्षण

जो छात्र या छात्रायें हमेशा पढ़ाई लिखाई करते हैं जिसके कारण उनकी आंखों पर जोर पड़ता है ।

जिससे उन्हें एक प्रकार का सिर दर्द होता है जो सिर के पीछे से होकर सामने की ओर माथे में आकर स्थिर हो जाता है।

चुपचाप लेटने से कम हो जाता है, एवं शोर गुल से बढ़ जाता है तो इस प्रकार के सिर दर्द को दूर करने के लिए एसिड फास एक अमोघ औषधि है।

आँखों के लक्षण

रोगी को कमजोरी के कारण आंखों के आगे कभी-कभी इंद्रधनुष जैसा रंग दिखाई देता है,आँखों के चारों तरफ हल्के काले-भूरे रंग के घेरे दिखाई देने लगते हैं।

आँखे अंदर की तरफ धस जाती हैं।यदि इस प्रकार के लक्षण किसी रोगी में दिखाई दे तो उस स्थिति में एसिड फास  होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

चेहरे के लक्षण

इस दवा में रोगी के शरीर से  तेजस्कर पदार्थ निकल जाने के  कारण रोगी का चेहरा बिल्कुल फीका दिखाई देने लगता है, आँखों के नीचे काले-काले घेरे दिखाई देने लगतें हैं।

रोगी का गाल बिल्कुल पिचक जाता है, रोगी कम उम्र में ही बुढ्ढा दिखाई देने लगता है, चेहरे की चमक गायब हो जाती है।रोगी किसी के सामने आँखें मिलाकर बात नहीं कर सकता है।

क्योंकि उसे शक होता है कि लोग कहीं हमारी गलतियों को जान न जाएं।यदि इस प्रकार के लक्षण किसी रोगी में दिखाई दें तो उसमें एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के प्रयोग से फायदा होता है।

खाँसी के लक्षण

रोगी शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर होने के कारण उसकी रोगप्रतिरोधक क्षमता इतनी कमजोर हो जाती है कि वह जरा सी भी ठंडी हवाओं को सहन नहीं कर सकता है।

और जरा सी भी ठंडी हवा लगते ही उसके गले में सुरसूरी होकर खाँसी आने लगती है, यह खाँसी सुबह और शाम को बढ़ती है।

सुबह बलगम निकलता है जिसका स्वाद नमकीन होता है।इस प्रकार के खाँसी के लक्षण में एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा फायदा करती है।

त्वचा के लक्षण

इसमें रोगी के शरीर की त्वचा पर जगह-जगह चींटियों के रेंगने का अनुभव होना इस दवा का प्रमुख लक्षण है।

बहुमूत्र या डायबिटीज के लक्षण

इसमें रोगी को बार बार मूत्र त्याग के लिए जाना पड़ता है।पेशाब बिल्कुल पानी की तरह साफ अथवा खड़िया मिले पानी या दूध की तरह सफेद होता है।

दस्त के लक्षण

रोगी को बार बार पखाना जाना पड़ता है।पखाना जाते समय रोगी को पेट में किसी भी प्रकार का दर्द या मरोड़ नहीं होता है।बल्कि रोगी अपने को हर प्रकार से आराम महसूस करता है।

पूछने पर रोगी कहता है कि जब तक हमें दस्त आता रहता है तब तक हमारी सभी तकलीफें कम रहती हैं, लेकिन जैसे ही किसी कारण से दस्त आना कम होता है, हमारी सब तकलीफें बढ़ जाती हैं।

इसके दस्त सफेद या हल्का पीले रंग का होता है जो कभी कभी हवा खारिज करते समय बिना इच्छा के निकल पड़ता है।

इसे भी पढ़े

एब्रोटेम 30 होम्योपैथिक दवा के उपयोग

एसिड फॉस 200 होम्योपैथिक दवा के उपयोग|Acid Phos 200 Homeopathic Medicine Uses in Hindi

स्त्री जननेन्द्रिय के लक्षण

जो महिलाएं मानसिक और शारिरिक रूप से बहुत कमजोर होती है, जिन्हें खून की बहुत कमी होती है, जिनका मासिक धर्म समय से बहुत पहले होता है, मासिक धर्म बहुत दिनों तक जारी रहता है, ऋतुस्राव काले रंग का होता है।

कमजोरी के कारण गर्भाशय बाहर निकल पड़ता है, पेशाब ज्यादा मात्रा में और बहुत जल्दी-जल्दी होता है।

मासिक धर्म बन्द होने के बाद प्रदर का स्राव शुरू हो जाता है, ऐसी जननेन्द्रिय के रोग से सम्बंधित स्त्रियों में एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के उपयोग से फायदा होता है।

इसे भी पढ़े

स्त्री की कामोत्तेजना बढ़ाने की होम्योपैथिक दवा

कैलेडियम 30 होम्योपैथिक दवा के फायदे

पुरूष जननेन्द्रिय के लक्षण

पुरुषों के स्वप्नदोष को दूर करने के लिए एसिड फास एक रामबाण औषधि है।इसमें रोगी को एक ही रात में दो-तीन बार स्वप्नदोष हो जाया करता है।

हस्थमैथुन के कारण वीर्य बहुत पतला हो जाता है,रोगी दूसरों के सामने आँखों से आँखें मिलाकर बात नहीं कर सकता है।

क्योंकि उसे डर होता है कि कोई हमारे कुकर्मो को जान न जाय,संगम के समय बिना तनाव आये ही वीर्य निकल जाता है।

इस तरह के लक्षण किसी रोगी में दिखाई देने पर उसमें एसिड फास 200 होमियोपैथिक मेडिसिन फायदा करती है।

इसे भी पढ़े

नपुंसकता में लाइकोपोडियम 200 के फायदे

मर्दाना कमजोरी की होम्योपैथिक दवा

धातु रोग की होम्योपैथिक दवा

एसिड फास होमियोपैथिक मेडिसिन

ग्रन्थियों की सूजन

यदि शरीर की कोई ग्रन्थि (स्तन) में सूजन हो गई हो और उसमें जरा सा भी दर्द न हो तो इस दवा के प्रयोग से सूजन में लाभ होता है।

दर्द रहित अतिसार

इस दवा में रोगी को बार-बार दस्त आता रहता है।इस दस्त से रोगी के पेट में जरा सा भी दर्द या मरोड़ नहीं होता है।

बल्कि रोगी से दस्त के बारे में पूछने पर रोगी कहता है कि हमें बार-बार दस्त आने से हमें सब प्रकार से आराम मिलता है।

यदि दस्त आना बन्द हो जाय तो हमारी सभी तकलीफें बढ़ जाती हैं।दस्त के इस बिचित्र लक्षण में एसिड फास होमियोपैथिक मेडिसिन फायदा करती है।

टाइफाइड ज्वर

इस दवा के ज्वर में रोगी शारिरिक और मानसिक रूप से इतना कमजोर हो जाता है कि कुछ बोलना नहीं चाहता है,हमेशा बेहोशी की हालत में पड़ा रहता है।

डॉक्टर के कुछ पूछने पर मुँह में कुछ बड़बड़ाता है और फिर सो जाता है।टाइफाइड रोग में इस तरह के लक्षण रहने पर ऐसिड फास के प्रयोग से फायदा होता है।

चींटी रेंगने का अनुभव

इस दवा में रोगी शारीरिक और मानसिक रूप से इतना कमजोर हो जाता है,जिसके कारण उसके शरीर में रक्त की गति इतनी धीमी हो जाती है कि वह समझता है कि उसके शरीर में जगह-जगह चींटीयां चल रहीं हैं।
 

श्वेतप्रदर

इस दवा में रोगिणी को मासिकधर्म समय से बहुत पहले आता है,और मासिकधर्म का रक्त काले रंग का होता है।
 
मासिकधर्म समाप्त होने के बाद श्वेतप्रदर शुरू हो जाता है।इस प्रकार के श्वेतप्रदर में एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के प्रयोग से फायदा होता है।
 

बालों का झड़ना

इस दवा में रोगी को बहुत दिनों तक टाइफाइड का रोग भोगने या हस्थमैथुन, स्वप्नदोष, बहुत अधिक संगम, ज्यादा शारिरिक परिश्रम आदि करने के कारण रोगी एकदम कमजोर हो गया हो, और उसके सिर के बाल झड़ने लगे तो उस समय एसिड फास होमियोपैथिक  मेडिसिन के प्रयोग से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है और बालों  का झड़ना बिल्कुल रुक जाता है।
 

बालों का पकना

इस दवा में रोगी कोई गम्भीर रोग भोगने,हस्थमैथुन करने,बहुत अधिक शारीरिक समागम करने के कारण शारीरिक और मानसिक रूप से बहुत कमजोर हो गया हो और उसके बाल बहुत ही कम उम्र में पकने लगें तो उस समय एसिड फास होमियोपैथिक मेडिसिन के प्रयोग से शारिरिक एवं मानसिक कमजोरी दूर होकर बालों का पकना रुक जाता है।
 

बहुमूत्र रोग

इस दवा में रोगी को रात में बहुत बार पेशाब करने के लिए उठना पड़ता है।पेशाब के साथ फास्फेट के कण निकलता रहता है।
 
जिसके कारण रोगी बहुत ही कमजोर हो जाता है।पेशाब में सुगर रहे या न रहे दोनों तरह के बहुमूत्र में एसिड फास के प्रयोग से फायदा होता है।
 

रोग में बृद्धि

अधिक स्त्री प्रसंग,स्वप्नदोष, हस्थमैथुन,ज्यादा बातचीत करने से, चलने फिरने से और मानसिक परिश्रम करने से रोग में बृद्धि होती है।
 

रोग में कमी या आराम

चुप-चाप आँखें बंद करके लेटे रहने से रोगी अपने आप को सब प्रकार से आराम महसूस करता है।
 

एसिड फॉस 200 खुराक | Acid Phos 200 dosage in Hindi

एसिड फॉस 200 होम्योपैथिक दवा की खुराक का चयन व्यक्ति के रोग के लक्षणों,रोगी की आयु और लिगं के आधार पर किया जाता है। लेकिन आमतौर पर, इस दवा की सुझाई गई खुराक निम्नलिखित होती है:

• Acid phos 30 को 3 से 5 बून्द दिनभर में 3 बार

• Acid phos 200 को 3 से 5 बून्द दिनभर में 2 बार

• Acid phis 1M को 3 से 5 बून्द सप्ताह में 1 बार

Acid phos Q को 15 से 20 बूंद की मात्रा में आधा कप पानी के साथ दिनभर में 3 बार

लेना पर्याप्त होता है।हालांकि रोग की तीव्रता के आधार पर दवा की मात्रा को कम या अधिक किया जा सकता है।

एसिड फॉस 200 price

Acid phos 200 होम्योपैथिक दवा की कीमत भिन्न-भिन्न ब्रांड और जगहों पर भिन्न हो सकती है।

भारत में  SBL कम्पनी की Acid phos 200 की 30 ml दवा की कीमत सामान्य रूप से 100 से 103 रुपये के बीच है।

हालांकि, इसकी वास्तविक कीमत आपकी जगह और दुकान से भी भिन्न हो सकती है, इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने स्थानीय होम्योपैथिक दुकान से इस दवा की वास्तविक कीमत की जांच कर लें।

एसिड फॉस 200 के साइड इफेक्ट | acid phos 200 side effects in hindi

Acid Phos 200 को एक कुशल होम्योपैथिक चिकित्सक की देख-रेख में लेने से इस दवा का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होता है।

इस लेख में आपने जाना कि एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के फायदे,एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के उपयोग, एसिड फास होमियो पैथिक मेडिसिन आदि के बारे में पूरी जानकारी।
 
एसिड फास के बारे में यह जानकारी आपको कैसी लगी कमेन्ट करके हमें जरूर बताएं।
 
Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की healthsahayata.inपुष्टि नहीं करता है, इनको केवल सुझाव के रूप में लें, इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
 
 

एसिड फास 200 के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

 

Q• एसिडम फॉस्फोरिकम किससे बनता है?

Ans• एसिडम फॉस्फोरिकम 200 को फास्फोरस और ऑक्सीजन को एक विशेष रासायनिक प्रकिया द्वारा प्रोसेसिंग करके बनाया जाता है।

Q• एसिडम फॉस्फोरिकम का उपयोग कैसे करते हैं?

Ans• यदि आप एसिडम फॉस्फोरिकम 200 का उपयोग करना चाहते हैं तो इसके लिए 3 से 5 बूंद एसिडम फॉस्फोरिकम होम्योपैथिक दवा को दिनभर में दो बार लेना चाहिए।

Q• क्या फॉस्फोरिकम एसिडम और फास्फोरस एक ही है?

Ans• जी नहीं फॉस्फोरिकम एसिडम और फास्फोरस दोनों होमियोपैथी की अलग-अलग दवाएं हैं।

Q• क्या फॉस्फोरिक एसिड का सेवन करना सुरक्षित है?

Ans• जी हां डॉक्टर की सलाह से फॉस्फोरिक एसिड होम्योपैथिक दवा का सेवन करना सुरक्षित है।

Q• एसिड फॉस के क्या फायदे हैं?

Ans• एसिड फॉस मानसिक तनाव, शारीरिक कमजोरी, स्वप्नदोष, हस्थमैथुन, लिंग में तनाव की कमी आदि में फायदा करती है।

Q• एसिड फॉस क्या काम करती है?

Ans• एसिड फॉस स्वप्नदोष, हस्थमैथुन, सेक्सुअल कमजोरी, दिमागी थकावट, शारीरिक कमजोरी दर्द रहित अतिसार आदि को ठीक करती है।

1 thought on “एसिड फास 200 होमियोपैथिक दवा के फायदे | Acid Phos 200 Benefits In Hindi”

Leave a Comment